Tour Off Duty 100 Officers And 1000 Soldiers To Be Recruited In The First Phase – टूर ऑफ ड्यूटी : प्रथम चरण में 100 अधिकारी और 1000 जवान होंगे भर्ती


अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Updated Thu, 14 May 2020 06:36 AM IST

ख़बर सुनें

सेना में ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ (टीओडी) के तहत युवाओं को  तीन साल के लिए देश सेवा का मौका देने के प्रस्ताव से सेना को अरबों रुपये की बचत होगी। अभी  इस प्रस्ताव पर शीर्ष सैन्य अधिकारियों के बीच मंथन चल रहा है, लेकिन सैन्य प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद के मुताबिक, यदि इसे मंजूरी मिलती है तो पहले चरण में टेस्ट प्रोजेक्ट के तौर पर 100 अधिकारियों व 1000 जवानों की भर्ती की जाएगी।

बता दें कि नागरिकों में देश सेवा की भावना बढ़ाने के लिए आम लोगों को भारतीय सेना से जोड़ने के लिए टीओडी प्रस्ताव लाया गया है। इसके तहत आम आदमी तीन साल के लिए सेना में भर्ती हो सकता है।

खासतौर पर अधिकारी पद के लिए मैनेजमेंट प्रोफेशनलों को आकर्षित करने की योजना है। इस योजना के माध्यम से सेना अरबों रुपये का बचत कर अपना आधुनिकीकरण कर सकेगी। बता दें कि सेना को एक अधिकारी को शॉर्ट सर्विस कमीशन के तहत रिलीज करने तक प्री-कमीशन ट्रेनिंग, वेतन व अन्य खर्च के तौर पर 10 साल में 5.12 करोड़ व 14 वर्ष के लिए 6.83 करोड़ खर्च करने पड़ते हैं। 

कॉरपोरेट जगत में भी बढ़ेंगे मौके

एक सैन्य अधिकारी का यह भी कहना है कि शॉर्ट सर्विस कमीशन के बाद कॉरपोरेट जगत में नौकरी करने के लिए जाने वाले अधिकारियों का अनुभव देखें तो 3 साल सेना में गुजारना किसी भी युवा के लिए अहम मौका साबित हो सकता है। उसे 3 साल बाद कॉरपोरेट जगत के साथ ही सरकारी नौकरियों में भी बेहतरीन अवसर मिल सकते हैं। 

सार

  • पहले चरण में टेस्ट प्रोजेक्ट के तौर पर 100 अधिकारियों व 1000 जवानों की भर्ती की जाएगी।
  • अरबों रुपये की बचत कर सेना कर सकेगी आधुनिकीकरण
  • कॉरपोरेट जगत में भी बढ़ेंगे मौके

विस्तार

सेना में ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ (टीओडी) के तहत युवाओं को  तीन साल के लिए देश सेवा का मौका देने के प्रस्ताव से सेना को अरबों रुपये की बचत होगी। अभी  इस प्रस्ताव पर शीर्ष सैन्य अधिकारियों के बीच मंथन चल रहा है, लेकिन सैन्य प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद के मुताबिक, यदि इसे मंजूरी मिलती है तो पहले चरण में टेस्ट प्रोजेक्ट के तौर पर 100 अधिकारियों व 1000 जवानों की भर्ती की जाएगी।

बता दें कि नागरिकों में देश सेवा की भावना बढ़ाने के लिए आम लोगों को भारतीय सेना से जोड़ने के लिए टीओडी प्रस्ताव लाया गया है। इसके तहत आम आदमी तीन साल के लिए सेना में भर्ती हो सकता है।

खासतौर पर अधिकारी पद के लिए मैनेजमेंट प्रोफेशनलों को आकर्षित करने की योजना है। इस योजना के माध्यम से सेना अरबों रुपये का बचत कर अपना आधुनिकीकरण कर सकेगी। बता दें कि सेना को एक अधिकारी को शॉर्ट सर्विस कमीशन के तहत रिलीज करने तक प्री-कमीशन ट्रेनिंग, वेतन व अन्य खर्च के तौर पर 10 साल में 5.12 करोड़ व 14 वर्ष के लिए 6.83 करोड़ खर्च करने पड़ते हैं। 

कॉरपोरेट जगत में भी बढ़ेंगे मौके

एक सैन्य अधिकारी का यह भी कहना है कि शॉर्ट सर्विस कमीशन के बाद कॉरपोरेट जगत में नौकरी करने के लिए जाने वाले अधिकारियों का अनुभव देखें तो 3 साल सेना में गुजारना किसी भी युवा के लिए अहम मौका साबित हो सकता है। उसे 3 साल बाद कॉरपोरेट जगत के साथ ही सरकारी नौकरियों में भी बेहतरीन अवसर मिल सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!