First Patient Of The Country Recovered From Plasma Therapy In Delhi And Sent Home – #ladengecoronase: दिल्ली में प्लाज्मा थेरैपी से ठीक हुआ देश का पहला मरीज


अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली  
Updated Mon, 27 Apr 2020 12:24 AM IST

ख़बर सुनें

कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा थेरैपी से ठीक करने की चर्चाओं के बीच रविवार को राहत भरी खबर आई है। दिल्ली के मैक्स अस्पताल में 4 अप्रैल से उपचाराधीन 49 वर्षीय मरीज प्लाज्मा थेरैपी से उपचार के बाद ठीक हो गया और उसे छुट्टी दे  दी  गई है। 

इस पद्धति से उपचार पाकर ठीक होने वाला यह देश का पहला मरीज है। साकेत स्थित मैक्स अस्पताल के डॉक्टरों ने इसकी पुष्टि करते बताया कि मरीज वेंटिलेटर पर था, लेकिन प्लाज्मा थेरैपी से उसकी हालत में सुधार हुआ और अब छुट्टी दी जा चुकी है। 

चिकित्सकों के मुताबिक कोरोना संक्रमित होने के बाद मरीज को निमोनिया हो गया था, जिसके चलते आईसीयू में रखना पड़ा था। सांस लेने में कठिनाई होने पर वेंटिलेटर पर लिया गया।  उसके परिजनों की मंजूरी के बाद प्लाज्मा थेरैपी से उपचार का ट्रायल शुरू किया। 

उधर, दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में भी पांच मरीजों पर ट्रायल चल रहा है। तीन मरीजों की स्थिति में सुधार देखने को मिल रहा है। दिल्ली सरकार की घोषणा के बाद लोकनायक अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों पर यह ट्रायल शुरू हुआ है। 

पहले चार मरीज इसमें शामिल थे। आईएलबीएस अस्पताल में प्लाज्मा लेने के बाद लोकनायक अस्पताल में भर्ती मरीजों पर इन्हें चढ़ाया जा रहा है।  एम्स के झज्जर स्थित एनआईसी में भर्ती एक मरीज जोकि वेंटिलेटर पर है उसे प्लाज्मा चढ़ाया जा रहा है। प्लाज्मा तब्लीगी जमात के ही एक व्यक्ति ने दिया है। 

कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा थेरैपी से ठीक करने की चर्चाओं के बीच रविवार को राहत भरी खबर आई है। दिल्ली के मैक्स अस्पताल में 4 अप्रैल से उपचाराधीन 49 वर्षीय मरीज प्लाज्मा थेरैपी से उपचार के बाद ठीक हो गया और उसे छुट्टी दे  दी  गई है। 

इस पद्धति से उपचार पाकर ठीक होने वाला यह देश का पहला मरीज है। साकेत स्थित मैक्स अस्पताल के डॉक्टरों ने इसकी पुष्टि करते बताया कि मरीज वेंटिलेटर पर था, लेकिन प्लाज्मा थेरैपी से उसकी हालत में सुधार हुआ और अब छुट्टी दी जा चुकी है। 

चिकित्सकों के मुताबिक कोरोना संक्रमित होने के बाद मरीज को निमोनिया हो गया था, जिसके चलते आईसीयू में रखना पड़ा था। सांस लेने में कठिनाई होने पर वेंटिलेटर पर लिया गया।  उसके परिजनों की मंजूरी के बाद प्लाज्मा थेरैपी से उपचार का ट्रायल शुरू किया। 

उधर, दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में भी पांच मरीजों पर ट्रायल चल रहा है। तीन मरीजों की स्थिति में सुधार देखने को मिल रहा है। दिल्ली सरकार की घोषणा के बाद लोकनायक अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों पर यह ट्रायल शुरू हुआ है। 

पहले चार मरीज इसमें शामिल थे। आईएलबीएस अस्पताल में प्लाज्मा लेने के बाद लोकनायक अस्पताल में भर्ती मरीजों पर इन्हें चढ़ाया जा रहा है।  एम्स के झज्जर स्थित एनआईसी में भर्ती एक मरीज जोकि वेंटिलेटर पर है उसे प्लाज्मा चढ़ाया जा रहा है। प्लाज्मा तब्लीगी जमात के ही एक व्यक्ति ने दिया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!