Encounter Started Between Militants And Forces In Chanjmullah Area Of Handwara Jammu Kashmir – कश्मीर के हंदवाड़ा मुठभेड़ में सेना के दो अफसर समेत पांच जवान लापता, संपर्क कटा, तलाशी अभियान जारी


ख़बर सुनें

उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में शनिवार को हुई मुठभेड़ में सेना के दो अफसरों समेत सुरक्षा बलों के पांच जवान लापता हो गए हैं। इनका टीम से संपर्क कट गया है। बताते हैं कि जिस घर में आतंकी छिपे हुए हैं उसमें दाखिल होने के बाद इनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। इनके साथ अनहोनी की आशंका जताई जा रही है। सेना की ओर से इनका पता लगाने के लिए युद्धस्तर पर अभियान चलाया गया है। हालांकि, सेना की ओर से फिलहाल इस पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है। कुपवाड़ा में तलाशी अभियान के 20 घंटे बाद आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच शनिवार को दोपहर बाद मुठभेड़ शुरू हुई। 

लश्कर के टॉप कमांडर के फंसे होने की आशंका

बताया जा रहा है कि लश्कर के टॉप कमांडर अपने ग्रुप के साथ फंसा हुआ है। इससे पहले करीब दो बार आतंकी जंगल क्षेत्र की ओर भाग खड़े हुए थे। देर शाम तक मुठभेड़ जारी थी। पुलिस के अनुसार हंदवाड़ा के चंज मोहल्ला में शनिवार को दोपहर बाद मुठभेड़ शुरू हुई। आतंकी घटनास्थल से फरार न हो जाएं, इसके लिए सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर कर रखा है। रिहायशी इलाका होने के चलते सुरक्षाबल एहतियात के साथ कार्रवाई कर रहे हैं। 

तलाशी अभियान के दौरान तीसरी बार आतंकी और सुरक्षाबल हुए आमने-सामने

यह तीसरी बार है कि आतंकी और सुरक्षाबल आमने-सामने हुए हैं। इलाके में शुक्रवार से सुरक्षाबलों द्वारा करीब 20 घंटे से तलाशी अभियान चलाया जा रहा था, क्योंकि उन्हें सूचना मिली थी कि लश्कर का उत्तरी कश्मीर का कमांडर हैदर अपने एक ग्रुप के साथ पाकिस्तान से घुसपैठ कर आने वाले नए ग्रुप को रिसीव करने जा रहा है। इसके आधार पर हंदवाड़ा के रजवाड़ा वडरबाला जंगल क्षेत्र में सुरक्षाबलों को शुक्रवार दोपहर को सेना की 21 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), 9 पैरा, 92 बटालियन सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने इलाके में संयुक्त तलाशी अभियान चलाया। 

सूत्रों के अनुसार जैसे ही टीम उस जगह पहुंची जहां आतंकी मौजूद थे, तो वहां छिपे आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। हालांकि कुछ देर तक मुठभेड़ चलने के बाद आतंकी जंगल क्षेत्र की ओर भाग खड़े हुए। इसके बाद एक बार फिर से उन्हें ढूंढने के लिए शनिवार को तलाशी अभियान चलाया गया। शाम को फिर से आतंकियों के साथ जवानों का आमना-सामना हुआ।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलाबाग सिंह ने बुधवार को दो टूक कहा था कि आतंकवादियों के खिलाफ हमारा काउंटर टेररिस्ट ग्रिड अपने ऑपरेशन को जारी रखेगा। कोविड 19 महामारी के बीच इसमें किसी प्रकार की कमी नहीं आएगी। सुरक्षाबलों ने कोरोना से जंग के बीच पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के खिलाफ शानदार काम करते हुए घुसपैठ के अनेक प्रयासों को विफल किया है।

डीजीपी ने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से इस मोर्चे पर हमारे संघर्ष में कोई कमी नहीं आएगी। सीमापार से लगातार घुसपैठ की कोशिश हो रही है परंतु सुरक्षाबलों की सतर्कता के कारण हम सीमाओं पर अलर्ट हैं। दूसरी ओर हमारे अधिकारी और जवान कोरोना से जंग में भी अग्रिम पंक्ति के योद्धाओं की भूमिका निभा रहे हैं। वह जरूरतमंद लोगों की मदद कर एक अनुकरणीय उदाहरण पेश कर रहे हैं। हम विश्वास दिलाते हैं कि हम पूरी प्रतिबद्धता के साथ लोगों की सेवा करना जारी रखेंगे।

 

सार

  • जिस घर में आतंकी छिपे हैं उसमें दाखिल होने के बाद से संपर्क कटा
  • इलाके में तीसरी बार मुठभेड़, लश्कर कमांडर ग्रुप के साथ फंसा
  • तलाशी अभियान के 20 घंटे बाद फिर शुरू हुई मुठभेड़

विस्तार

उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में शनिवार को हुई मुठभेड़ में सेना के दो अफसरों समेत सुरक्षा बलों के पांच जवान लापता हो गए हैं। इनका टीम से संपर्क कट गया है। बताते हैं कि जिस घर में आतंकी छिपे हुए हैं उसमें दाखिल होने के बाद इनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। इनके साथ अनहोनी की आशंका जताई जा रही है। सेना की ओर से इनका पता लगाने के लिए युद्धस्तर पर अभियान चलाया गया है। हालांकि, सेना की ओर से फिलहाल इस पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है। कुपवाड़ा में तलाशी अभियान के 20 घंटे बाद आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच शनिवार को दोपहर बाद मुठभेड़ शुरू हुई। 

लश्कर के टॉप कमांडर के फंसे होने की आशंका

बताया जा रहा है कि लश्कर के टॉप कमांडर अपने ग्रुप के साथ फंसा हुआ है। इससे पहले करीब दो बार आतंकी जंगल क्षेत्र की ओर भाग खड़े हुए थे। देर शाम तक मुठभेड़ जारी थी। पुलिस के अनुसार हंदवाड़ा के चंज मोहल्ला में शनिवार को दोपहर बाद मुठभेड़ शुरू हुई। आतंकी घटनास्थल से फरार न हो जाएं, इसके लिए सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर कर रखा है। रिहायशी इलाका होने के चलते सुरक्षाबल एहतियात के साथ कार्रवाई कर रहे हैं। 

तलाशी अभियान के दौरान तीसरी बार आतंकी और सुरक्षाबल हुए आमने-सामने

यह तीसरी बार है कि आतंकी और सुरक्षाबल आमने-सामने हुए हैं। इलाके में शुक्रवार से सुरक्षाबलों द्वारा करीब 20 घंटे से तलाशी अभियान चलाया जा रहा था, क्योंकि उन्हें सूचना मिली थी कि लश्कर का उत्तरी कश्मीर का कमांडर हैदर अपने एक ग्रुप के साथ पाकिस्तान से घुसपैठ कर आने वाले नए ग्रुप को रिसीव करने जा रहा है। इसके आधार पर हंदवाड़ा के रजवाड़ा वडरबाला जंगल क्षेत्र में सुरक्षाबलों को शुक्रवार दोपहर को सेना की 21 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), 9 पैरा, 92 बटालियन सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने इलाके में संयुक्त तलाशी अभियान चलाया। 

सूत्रों के अनुसार जैसे ही टीम उस जगह पहुंची जहां आतंकी मौजूद थे, तो वहां छिपे आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। हालांकि कुछ देर तक मुठभेड़ चलने के बाद आतंकी जंगल क्षेत्र की ओर भाग खड़े हुए। इसके बाद एक बार फिर से उन्हें ढूंढने के लिए शनिवार को तलाशी अभियान चलाया गया। शाम को फिर से आतंकियों के साथ जवानों का आमना-सामना हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!