Doctors And Nurses Who Recovering From Corona Virus Will Also Give Plasma – कोरोना को मात देने वाले डॉक्टर और नर्स भी देंगे प्लाज्मा, अब तक 25 तब्लीगी जमाती कर चुके हैं रक्तदान


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Wed, 29 Apr 2020 12:13 AM IST

प्लाज्मा थैरेपी के लिए जमाती ने किया रक्तदान
– फोटो : amar ujala

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद स्वस्थ हुए डॉक्टर और नर्स समेत तमाम स्वास्थ्य कर्मचारी भी दूसरों के लिए प्लाज्मा दान करेंगे। अब तक लोकनायक अस्पताल में चल रहे प्लाज्मा ट्रायल के लिए 25 तब्लीगी जमाती आईएलबीएस अस्पताल में रक्तदान कर चुके हैं। फिलहाल, पांच स्वास्थ्य कर्मचारियों ने प्लाज्मा दान करने के लिए पंजीयन कराया है। 

लोकनायक प्रबंधन के अनुसार, दिल्ली में सबसे पहले संक्रमित होने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी अब स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें एक डॉक्टर, दो नर्स और दो तकनीशियन शामिल हैं। इन लोगों ने अब बाकी मरीजों को बचाने के लिए प्लाज्मा दान करने की इच्छा जताई है। अगले एक-दो दिन में आईएलबीएस अस्पताल में यह प्लाज्मा दान कर सकेंगे। प्रबंधन के अनुसार, गंभीर मरीजों के उपचार में प्लाज्मा ट्रायल किया जा रहा है। अभी तक पांच मरीज जो आईसीयू में भर्ती हैं उनमें काफी सुधार देखने को भी मिल रहा है।
 

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर दो अस्पतालों से राहत भरी खबर आई है। 25 कोरोना योद्धाओं के चेहरे पर मंगलवार को उस वक्त खुशी देखने को मिली जब उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। यह योद्धा दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में कार्यरत हैं। कुछ दिन पहले यहां एक मरीज सर्जरी के लिए आया था, जो संक्रमित पाया गया। इसके चलते 25 स्वास्थ्य कर्मचारियों को क्वारंटीन किया गया था। इनमें कई वरिष्ठ डॉक्टर भी शामिल हैं। डॉक्टरों ने बताया कि रिपोर्ट निगेटिव मिलने के बाद भी 14 दिन क्वारंटीन का वक्त उन्हें पूरा करना ही होगा। हालांकि, वे अपने घर से ही अस्पताल में मौजूद अन्य डॉक्टरों को दिशा-निर्देश देते रहेंगे।

उधर, आरएमएल अस्पताल में भर्ती एक डॉक्टर को छुट्टी मिल गई है। यह महिला डॉक्टर आरएमएल में एनेस्थेसिया विभाग में कार्यरत है। कुछ दिन पहले एक संक्रमित महिला की प्रसूति के कारण यह संक्रमित हो गई थीं। हालांकि, अस्पताल प्रबंधन ने कुछ दिन तक इन्हें घर पर ही आराम करने की सलाह दी है। यह महिला डॉक्टर आरएमएल अस्पताल के छात्रावास में रहती हैं।

राजन बाबू टीबी अस्पताल की आया संक्रमित, चार क्वारंटीन
उत्तरी निगम के राजन बाबू टीबी अस्पताल में कार्यरत वार्ड आया को कोरोना होने के बाद उनके संपर्क में रहे चार लोगों को क्वारंटीन किया गया है। इसमें उनके पति भी हैं, जो आया के साथ उसी अस्पताल में कार्यरत थे।

उत्तरी निगम की प्रेस एवं सूचना विभाग की निदेशक ईरा सिंघल ने बताया कि आया नियमित तौर पर डायलिसिस के लिए जाया करती थी। इसके लिए ही वह एक निजी अस्पताल गई थी, जहां कोरोना के लक्षण होने पर उन्हें लोकनायक अस्पताल में जांच के लिए भेजा गया। कोरोना की पुष्टि होने के बाद आया को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया। हालांकि, क्वारंटीन किए गए लोगों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखे हैं। जल्द ही उन सभी चारों लोगों का भी टेस्ट किया जाएगा।

कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद स्वस्थ हुए डॉक्टर और नर्स समेत तमाम स्वास्थ्य कर्मचारी भी दूसरों के लिए प्लाज्मा दान करेंगे। अब तक लोकनायक अस्पताल में चल रहे प्लाज्मा ट्रायल के लिए 25 तब्लीगी जमाती आईएलबीएस अस्पताल में रक्तदान कर चुके हैं। फिलहाल, पांच स्वास्थ्य कर्मचारियों ने प्लाज्मा दान करने के लिए पंजीयन कराया है। 

लोकनायक प्रबंधन के अनुसार, दिल्ली में सबसे पहले संक्रमित होने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी अब स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें एक डॉक्टर, दो नर्स और दो तकनीशियन शामिल हैं। इन लोगों ने अब बाकी मरीजों को बचाने के लिए प्लाज्मा दान करने की इच्छा जताई है। अगले एक-दो दिन में आईएलबीएस अस्पताल में यह प्लाज्मा दान कर सकेंगे। प्रबंधन के अनुसार, गंभीर मरीजों के उपचार में प्लाज्मा ट्रायल किया जा रहा है। अभी तक पांच मरीज जो आईसीयू में भर्ती हैं उनमें काफी सुधार देखने को भी मिल रहा है।
 


आगे पढ़ें

25 कोरोना योद्धाओं की रिपोर्ट आई निगेटिव, मिली छुट्टी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!