Covid 19 Indians Evacuation From Abroad Live Updates Ins Jalashwa Air India Uzbekistan San Francisco – वंदे भारत मिशन Update: मालदीव से 698 भारतीयों को लेकर कोच्चि पहुंचा आईएनएस जलाश्व


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sun, 10 May 2020 10:41 AM IST

विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा रहा है
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

विदेशों में फंसे भारतीयों को देश वापस लाने के लिए भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन और ऑपरेशन समुद्र सेतु लॉन्च किया हुआ है। जिसके तहत पूरी सुरक्षा जांच के बाद नागरिकों को देश लाया जा रहा है। इसी कड़ी में मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस लेकर आईएनएस जलाश्व रविवार को कोच्ची हार्बर पहुंचा। वहीं सिंगापुर से एयर इंडिया का एआई343 विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है।

कोच्ची हार्बर पहुंचा आईएनएस जलाश्व
ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत नौसेना का युद्धपोत आईएनएस जलाश्व मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस लेकर रविवार को कोच्ची हार्बर पहुंचा। भारतीय नौसेना के अनुसार 698 भारतीय नागरिकों में से 19 गर्भवती महिलाएं हैं। आधिकारिक सूत्रों के बताया कि कोविड-19 के दौरान विदेश से भारतीयों को वापस लाने का यह भारचीय नौसेना का पहला निकासी अभियान था। यात्री कोचीन पोर्ट ट्रस्ट के क्रूज टर्मिनल से उतरेंगे। पुलिस महानिरीक्षक विजय सखारे ने कहा कि देश वापस आए नागरिकों के सुरक्षित निवास के लिए सभी तैयारियां की गई हैं। यात्रियों में 440 केरल से जबकि बाकी विभिन्न राज्यों से हैं।
 

सिंगापुर से मुंबई पहुंचे 24 यात्री
वंदे भारत अभियान के तहत सिंगापुर से एयर इंडिया का दूसरा विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है। विमान संख्या एआई343 के जरिए सभी को लाया गया है। यह जानकारी सिंगापुर में स्थित भारतीय उच्चायोग ने दी।
 

उज्बेकिस्तान से लाए जाएंगे भारतीय नागरिक
कोविड-19 की वजह से उज्बेकिस्तान में फंसे भारतीयों को वंदे भारत अभियान के तहत स्वदेश लाया जाएगा। ताशकंद में स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने यात्रियों की थर्मल चेकिंग की। यह जानकारी उज्बेकिस्तान में मौजूद भारतीय राजदूत संतोष झा ने दी।

विदेशों में फंसे भारतीयों को देश वापस लाने के लिए भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन और ऑपरेशन समुद्र सेतु लॉन्च किया हुआ है। जिसके तहत पूरी सुरक्षा जांच के बाद नागरिकों को देश लाया जा रहा है। इसी कड़ी में मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस लेकर आईएनएस जलाश्व रविवार को कोच्ची हार्बर पहुंचा। वहीं सिंगापुर से एयर इंडिया का एआई343 विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है।

कोच्ची हार्बर पहुंचा आईएनएस जलाश्व

ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत नौसेना का युद्धपोत आईएनएस जलाश्व मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस लेकर रविवार को कोच्ची हार्बर पहुंचा। भारतीय नौसेना के अनुसार 698 भारतीय नागरिकों में से 19 गर्भवती महिलाएं हैं। आधिकारिक सूत्रों के बताया कि कोविड-19 के दौरान विदेश से भारतीयों को वापस लाने का यह भारचीय नौसेना का पहला निकासी अभियान था। यात्री कोचीन पोर्ट ट्रस्ट के क्रूज टर्मिनल से उतरेंगे। पुलिस महानिरीक्षक विजय सखारे ने कहा कि देश वापस आए नागरिकों के सुरक्षित निवास के लिए सभी तैयारियां की गई हैं। यात्रियों में 440 केरल से जबकि बाकी विभिन्न राज्यों से हैं।

 

सिंगापुर से मुंबई पहुंचे 24 यात्री
वंदे भारत अभियान के तहत सिंगापुर से एयर इंडिया का दूसरा विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है। विमान संख्या एआई343 के जरिए सभी को लाया गया है। यह जानकारी सिंगापुर में स्थित भारतीय उच्चायोग ने दी।
 

उज्बेकिस्तान से लाए जाएंगे भारतीय नागरिक
कोविड-19 की वजह से उज्बेकिस्तान में फंसे भारतीयों को वंदे भारत अभियान के तहत स्वदेश लाया जाएगा। ताशकंद में स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने यात्रियों की थर्मल चेकिंग की। यह जानकारी उज्बेकिस्तान में मौजूद भारतीय राजदूत संतोष झा ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!